Ticker

6/recent/ticker-posts

UPSC preparation home or Delhi

SWOT analysis


UPSC, civil services, IAS,IPS की तैयारी के लिए सभी उमेदवार के मन में प्रश्न रहता है की preparation के लिए दिल्ली जाये या घर पर तैयारी करे ?

ओर एक प्रश्न होता है की किसीभी राज्य में कोई एक ऐसा शहर होगा ही जहा competitive exam की तैयारी का hub है तो Hometown छोड़ कर वहा जाये या फिर घर से तैयारी करे ?


Dehli जाने के फायदे
 1. वातावरण: दिल्ली में मुखर्जी नगर और करोल बाग जैसे विस्तार पूरी तरह से सिविल सेवा की तैयारी कर रहे बच्चो से भरी है। जहा रास्ते पर , दुकानों पर ,घर ,होटल , लाइब्रेरी सभी जगह पर सिविल सेवा का वातावरण मिलेगा।  यानि की आपका पूरा दिन इस स्पर्धात्मक परीक्षा के  motivation में गुजरेगा। 

जबकि घर पर यह motivation आपको अंदर से लाना पड़ेगा। और कभी कभी अकेलापन महसूस होने लगता है। 

   उपाय : आपके आसपास में सिविल सेवा या राज्य लोक-सेवा में तैयारी कर रहे कुछ गंभीर तथा कुशल लोगो का ग्रुप बना सकते हो। साथमे अपने शहर की अच्छी library join कर सकते हो जहा आपके समकक्ष पढ़ने वाले लोग का समूह मिलेगा। यानि की आप अपने जिले में उपयोगी Motivatonal वातावरण बना सकते हो। 
 
2. State Public service : दिल्ली में केवल आप UPSC,SSC जैसी केंद्रीय परीक्षा  और जिन राज्यों के PCS की परीक्षा हिंदी या English में होती है उनकी तैयारी कर सकते हो।

जबकि गुजरात, महाराष्ट्र , तमिलनाडु जैसे राज्यों के PCS की परीक्षा की भाषा और स्रोत(Resource) अलग होने के कारण आपको अपने राज्य में परीक्षा की तैयारी के लिए थोड़े वक्त के लिए तो आना ही पड़ेगा। 

सुझाव : सभी UPSC के उमेदवार को अपने राज्य की PCS को भी गंभीरता से देना चाहिए। क्योकि दोनों परीक्षा में नियुक्ति एक ही समान होदे पर मिलती है। 

यह आपके backup plan की तरह काम करेगी जो मुश्किल की घडी में आपको हिम्मत देगी। मैने Online कई सारे लोगो के विचार पढ़े है जो UPSC के सामने PCS को निचा दिखाते है लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। नियुक्ति के बाद अधिकारी की कुशलता और कार्यशेली ही मान सम्मान दिलाती है। 

3. Study material : Delhi में सब मटेरियल मिलता है लेकिन आज वो हमे internet आसानी से मिल जाता है। और हम दिल्ली के स्टोर वाले को बोलकर मंगवा भी सकते है।  Telegram पर कई ऐसी channal है जहा पर सॉफ्ट कॉपी मिलती है आप उसकी print निकाल कर पढ़ सकते हो। 

दिल्ली ज्यादा मटेरियल होने से वहा विद्यार्थी कई सारे स्रोत इकठ्ठे कर लेता है जिसे नहीं तो वह पढ़ पाता है नहीं revision कर पाता। जिसकी वजह से वह हमेशा असुरक्षित या डर में रहता है। 

जबकि घर पर हमारे पास चुने हुए मटेरियल होते है। जिसको हम अपनी तरह से बिना डर से पढ़ सकते है। 


4. cost : दिल्ली में खर्च अंदाजित खर्च 
 
Coaching = 150000 GS + 20000 Optional 

रहनेका खर्च = 5000 प्रति माह 

खाने-पिने का खर्च , travel खर्च आदि मिलाकर एक साल का कम से कम  3 लाख का खर्च होता है। 

घर पर अंदाजित खर्च 

प्रिंट का खर्च + इंटरनेट का खर्च 

यदि आप लॅपटॉप ले तो महत्तम 40000 
pendrive कोर्स 40000 से 45000  में मिलते (ऐसे सारे video आपको telegram channel पर मुफ्त में मिल जायेंगे आपको उसे ढूंढने में थोड़ा वक्त और ज्यादा नेट देना होगा )





5. Resident दिल्ली मे 
6. optional subject
7. family problem
8. health issue
9. food
10. upsc के पश्न समाज और जमीनी स्तर के होते हो जो आप अपने होम town में देख सकते हो 
11. local newspaper आपको mains लिखने के लिए कई मुद्दे देता है 
12. दिल्ली English और Hindi के लिए ज्यादा suitable है अगर आप स्थानिक भाषा में पेपर देना चाहते हो तो वह आपका जवाब कोई check  नहीं कर देगा , वह काम आपके राज्य के प्रोफेसर से करवा सकते हो 
13. दिल्ली जाके 8-10 महीना coauching करने के बबाद वहा सिर्फ self study  होती है तो जो आप घर आके कर सकते है 
14. कई लोगो ने 10th 12th JEE NEET जैसी तैयारी घर पर की है उनके अपना भूतकाल का अनुभव 
15.  online availability lecture 
16 youtube 
17. the hindu या indian express नहीं आता है 
18  Freedom to choose your own style of preparation
१९. distraction 
20 You need not waste time on daily chores like laundry, preparing breakfast, cleaning your room, etc since it will all be taken care of at home. Saves a lot of time and energy, which can be used for productive preparation purposes

21 You will be surrounded by your genuine well wishers - Parents. No matter how many ‘good friends’ you have in your coaching centre, they will never be able to match up to the kind of care and attention that your parents will shower upon you.

22 family  के साथ बात  चित समाज के साथ जुड़ाव , स्थानिक मुश्केली का आभास 

23 उम्र ज्यादा है और कमाना जरूरी है तो दिल्ली में छोटी job छे ही चलेगा उसके लिए अपना जिल्ला ही suitable  है 

24 test series ,telegram 

25 science और commerce background है तो आपको coaching या online lecture भरने चाहिए ताकि कैसे पढ़े ,कितना पढ़े, क्या पूछते है , क्या न पढ़े वो मालूम चलता है 

26 delhi coaching से पेहले आपको basic book पढ़के जानी पड़ेगी क्युकी वहा इ मान कर पढ़ाया जाता है आपको ncert तो मालूम ही है 

27 family problem है तो उससे दूर रेहना अच्छा है जैसे library join या delhi 

28 friends अच्छे और बुरे 

29. UPSC कई बार आपका विचार जानना चाहता है जो एकेले में ज्यादा सुरक्षित रहता है ज्यादा बहारी विचारो से आपकी origionality कम होने लगती है।  
 
Delhi  जाने के नुकशान 





Home

घर पर पढाई का वातावरण नहीं मिलेगा। 
 

Post a Comment

0 Comments